मध्य प्रदेश के राजकीय चिन्ह | MP Ka Rajkiya Chinh

Madhya Pradesh Ke Rajkiya Chinha,
मध्य प्रदेश के राजकीय चिन्ह
Madhya Pradesh Ke Rajkiya Chinha

मध्य प्रदेश के राजकीय चिन्ह (mp ka rajkiya chinh): भारत के हर राज्य के अपने राजकीय चिन्ह होते है। जो राज्य में उनके प्रमुख प्रतीकों के लिए जाने जाते है। राजकीय चिन्ह असल में उस राज्य के बारे में कोई प्रमुखता या विशेषता रखते है जो उन्हें अन्य से अलग बनाती है। आज के स लेख के माध्यम से हम Madhya Pradesh Ke Rajkiya Chinha के बारे में जानकारी प्राप्त करेंगे।

व्हाट्सएप चैनल पर जुड़े
Join Now
टेलीग्राम चैनल पर जुड़े
Join Now

इस लेख में हम जानेगे की मध्य प्रदेश का राजकीय चिन्ह कौन सा है, मध्य प्रदेश के राजकीय पशु, पक्षी, फल, फूल, फसल आदि के बारे में भी जानने का प्रयास करेंगे। सबसे पहले हम एमपी के राजकीय चिन्ह की सूची देख्नेगे फि उनके बारे में जरूरी बाते जानेंगे।

मध्य प्रदेश के राजकीय चिन्ह:

  • मध्य प्रदेश का राजकीय पशु: बाहरसिंघा
  • राजकीय पक्षी: दूधराज या शाह बुलबुल
  • राजकीय फसल: सोयाबीन
  • राजकीय बृक्ष: बरगद
  • राजकीय नृत्य: रा
  • राजकीय पुष्प: लिली
  • राजकीय नाट्य: माच
  • राजकीय नदी: नर्मदा नदी

Madhya Pradesh Ke Rajkiya Chinha

हमने एमपी के प्रमुख राजकीय चिन्ह या प्रतीकों की सूची को देख लिया है। आइये इन के बारे में कम शब्दों में चर्चा करते है।

मध्य प्रदेश का राजकीय चिन्ह क्या है

Madhya pradesh ka rajkiya chinh – मध्यप्रदेश शाशन के द्वारा राज्य की स्थापना के उपरांत राजकीय प्रतीक चिन्ह अपनाया गया, उसमे भारत के राजकीय चिन्ह और स्थानीय विशेषताएं दोनों को महत्त्व दिया गया है। सके लिए राजकीय चिन्ह की छवि को देखिये जो इस प्रकार है

madhya pradesh ka rajkiya chinh

उपरोक्त चिन्ह में सबसे बाह की और 24 स्तूप अंकित है। इसके बाद ही एक वृत्त है जो सदैव तरक्की और विकाश की असीम सम्भावनाओ का घोतक है। इस वृत्त के अंदर राज्य की प्रमुख फसलें गेहूँ और धान की बलियो के साथ मध्यप्रदेश शासन क सत्यमेव जयते उत्कीर्ण है। केन्दीय वृत्त में अशोक स्तम्भ की सिंह आकृति के साथ राजकीय बृक्ष बरगद को दर्शाया गया है।

मध्यप्रदेश का राजकीय पशु

MP Ka Rajkiya Pashu 1
MP Ka Rajkiya Pashu

Madhya Pradesh MP Ka Rajkiya Pashu ”बारहसिंघा” है। इसका वैज्ञानिक नाम रूसरवस डुवाउसेली (Rucervus duvaucelii) है। 01 नवंबर 1981 को मध्य प्रदेश सरका के द्वारा इसको राजकीय पशु का दर्जा प्राप्त हुआ।

मध्यप्रदेश का राजकीय पक्षी

mp ka rajkiya pakshi
MP Ka Rajkiya Pakshi

MP Ka Rajkiya Pakshi ”दूधराज” या ”शाह बुलबुल” है। इसका वैज्ञानिक नाम स्वर्ग का टेरसिपोन (Terpsiphone paradisi) है। दूधराज को भी 01 नवंबर 1981 को मध्य प्रदेश के राजकीय पशु का दर्जा प्राप्त हुआ।

मध्यप्रदेश की राजकीय फसल

mp ki rajkiya fasal
mp ki rajkiya fasal

मध्य प्रदेश की राजकीय फसल ”सोयाबीन” है। भात में सोयाबीन का सबसे ज्यादा उत्पादन मध्यप्रदेश में ही होता है। और इसके उत्पादन में यह भारत में प्रथम स्थान प्राप्त करता है।

मध्य प्रदेश का राजकीय पुष्प

mp ka rajkiya pushpa
mp ka rajkiya pushp

एमपी का राज्य पुष्प ”लिली” है। यह लिलिएसी कुल का एक पौधा है। यह फूल अपनी सुंदता सुगंध एवं आकृति के कारण विख्यात हैं

मध्य प्रदेश का राजकीय बृक्ष

mp ki rajkiya braksh
mp ka rajkiya braksh

एमपी राजकीय बृक्ष ”बरगद” है। इसको मध्यप्रदेश के चिन्ह में भी शामिल किया गया है। बरगद का बृक्ष भारत का राष्ट्रीय बृक्ष भी है।

मध्यप्रदेश का राजकीय नृत्य

बुंदेलखंड में प्रसिध्द ”रानृत्य” एमपी का राजकीय नृत्य है। मेलो में और अन्य कार्यक्रमों में लोगो के द्वारा इसका आयोजन किया जाता है।

MP Ke Rajkiya Chinha

यदि आपको मध्य प्रदेश के राजकीय चिन्ह से सम्बंधित आपका कोई प्रश्न या सुझाब हो तो आप कमेंट करके पूछ सकते है। उम्मीदवार किसी भी नवीनतम अपडेट के लिए इस पृष्ठ के संपर्क में भी बने रहें। साथ ही उम्मीदवार स्टडी मटेरियल, नवीनतम जॉब्स, एडमिट कार्ड, और परीक्षा अलर्ट के संबंध में नवीनतम अपडेट प्राप्त करने के लिए हमारी वेबसाइट को बुकमार्क कर सकते हैं।

टेलीग्राम ज्वाइन करेंClick Here
YouTube चैनलClick Here
Facebook पेजClick Here

सम्बंधित लेख:

Leave a Comment